Chaitra Navratri 2022 Day 5: चैत्र नवरात्रि के पांचवे दिन करें मां स्कंदमाता की पूजा, जानें व्रत कथा तथा आरती

Chaitra Navratri 2022 Day 5: चैत्र नवरात्रि का पाँचवा दिन मां दुर्गा के स्कंदमाता स्वरूप को समर्पित है। इस दिन देवी स्कंदमाता की उपासना की जाती है। माता रानी की सच्चे मन से उपासना करने से भक्तों की मनोकामनाएं पूरी होने की मान्यता है। मां स्कंदमाता पूजा विधि ( Skandamata Mata Puja Vidhi) सुबह जल्दी […]

संस्कृति

Chaitra Navratri 2022 Day 5: चैत्र नवरात्रि का पाँचवा दिन मां दुर्गा के स्कंदमाता स्वरूप को समर्पित है। इस दिन देवी स्कंदमाता की उपासना की जाती है। माता रानी की सच्चे मन से उपासना करने से भक्तों की मनोकामनाएं पूरी होने की मान्यता है।

मां स्कंदमाता पूजा विधि ( Skandamata Mata Puja Vidhi)

  • सुबह जल्दी उठकर स्नान आदि से निवृत्त होने के बाद साफ- स्वच्छ वस्त्र धारण करें।
  • मां की प्रतिमा को गंगाजल से स्नान कराएं।
  • स्नान कराने के बाद पुष्प अर्पित करें।
  • मां को रोली कुमकुम भी लगाएं।
  • मां को मिष्ठान और पांच प्रकार के फलों का भोग लगाएं।
  • मां स्कंदमाता का अधिक से अधिक ध्यान करें।
  • मां की आरती अवश्य करें।

मां स्कंदमाता की आरती ( Skandamata Mata ki aarti)

जय तेरी हो स्कंद माता, पांचवा नाम तुम्हारा आता.
सब के मन की जानन हारी, जग जननी सब की महतारी.
तेरी ज्योत जलाता रहूं मैं, हरदम तुम्हे ध्याता रहूं मैं.
कई नामो से तुझे पुकारा, मुझे एक है तेरा सहारा.
कहीं पहाड़ों पर है डेरा, कई शहरों में तेरा बसेरा.
हर मंदिर में तेरे नजारे गुण गाये, तेरे भगत प्यारे भगति.
अपनी मुझे दिला दो शक्ति, मेरी बिगड़ी बना दो.
इन्दर आदी देवता मिल सारे, करे पुकार तुम्हारे द्वारे.
दुष्ट दत्य जब चढ़ कर आये, तुम ही खंडा हाथ उठाये
दासो को सदा बचाने आई, चमन की आस पुजाने आई।

Leave a Reply

Your email address will not be published.