हड्डियों के क्षरण को रोकने में कारगर हैं ये ड्रिंक्स

एक स्वस्थ जीवन के लिए सबसे जरूरी चीजों में से एक है, मजबूत हड्डियां। ये न सिर्फ हमारे अंगों की रक्षा करती हैं, बल्कि चोट से होने वाले जाखिमों को भी कम करती हैं। यही वजह है कि हड्डियों की मज़बूती की बात सेहत की चिंता में सबसे ऊपर स्थान पाती है, लेकिन जैसे-जैसे हमारी […]

सेहत

एक स्वस्थ जीवन के लिए सबसे जरूरी चीजों में से एक है, मजबूत हड्डियां। ये न सिर्फ हमारे अंगों की रक्षा करती हैं, बल्कि चोट से होने वाले जाखिमों को भी कम करती हैं। यही वजह है कि हड्डियों की मज़बूती की बात सेहत की चिंता में सबसे ऊपर स्थान पाती है, लेकिन जैसे-जैसे हमारी उम्र बढ़ती है, हड्डियों का क्षरण होने लगता है और ये कमजोर होती जाती हैं, जिसके फलस्वरूप हड्डियों से संबंधित बीमारियां, जैसे- ओस्टियोपोरोसिस और ऑस्टियो आर्थराइटिस हो सकती हैं। इनके चलते न सिर्फ़ दैनिक जीवन ही प्रभावित होता है, बल्कि यह पूरी जीवनशैली से लेकर सामान्य चाल-ढाल और पोश्चर तक को प्रभावित कर सकता है। इनके चलते फ्रैक्चर के जोखिम भी बढ़ जाते हैं।

जहां एक ओर मध्यम आयु वर्ग के व्यक्तियों में हड्डियों के रोगों का खतरा अधिक होता है, वहीं महिलाओं में रजोनिवृत्ति के बाद इस तरह की समस्याएं ज़्यादा देखने में आती हैं, इसलिए उन्हें अतिरिक्त सावधानी बरतनी चाहिए। कुछ विटामिन्स और मिनरल्स की कमी के कारण भी हड्डियों से संबंधित बीमारियां हो सकती हैं। हड्डियों को स्वस्थ बनाए रखने के लिए कैल्शियम और विटामिन डी की आवश्यकता होती है। एक संतुलित जीवनशैली, सही प्रशिक्षण और धूम्रपान न करने से हड्डियों को काफी हद तक स्वस्थ रखा जा सकता है।

यहां पर हम कुछ ऐसी ड्रिंक्स के बारे में बता रहे हैं, जिनकी मदद से आप अपनी हड्डियों को काफी हद तक स्वस्थ रख सकते हैं-

ग्रीन स्मूदी (Green smoothie)

गहरे हरे रंग की पत्तेदार सब्जियां सेहत के लिए बहुत अच्छी होती हैं। पालक और कच्चे केले जैसी हरी सब्जियां कैल्शियम से भरपूर होती हैं। केला तो पूरी तरह से कैल्शियम का एक बेहतरीन स्रोत है। बस दही के साथ एक ब्लेंडर में केले को ब्लेंड करके पी लें। आप संतरे और केले जैसे फलों को भी अधिक से अधिक मात्रा में ले सकते हैं। पोटैशियम वाले ऐसे फल हड्डियों को सघनता प्रदान करते हैं, जिससे हड्डियां मज़बूत होती हैं।

दूध (Milk)

डेयरी उत्पादों में कैल्शियम की उच्चतम मात्रा होती है, जो हड्डियों को मज़बूती प्रदान करते हैं। विटामिन डी को बेहतर तरीके से प्राप्त करने के लिए आप पाश्चराइज्ड दूध का भी सेवन कर सकते हैं। पबमेड के अनुसार, दूध ऑस्टियोपोरिसस के ख़तरों को कम करता है।

अंगूर का जूस (Grapefruit juice)

अंगूर का जूस बोन मैट्रिक्स में कोलेजन के उत्पादन में सहायता प्रदान करता है। यह रस विटामिन सी से भरपूर होता है, जो हड्डियों को नुकसान पहुंचाने वाले तत्वों को शरीर से बाहर निकालने में मदद करता है।

बादाम का दूध (Almond milk)

अगर आप वीगन डाइट के शौकीन हैं तो आपने ज़रूर इस ड्रिंक को कभी न कभी ट्राई किया होगा। दूध की जगह बादाम का दूध एक बेहतर विकल्प है। बादाम के दूध में भरपूर मात्रा में कैल्शियम होता है। जो लोग डेयरी उत्पादों का सेवन नहीं करते, वे बादाम का दूध पीकर ऑस्टियोपोरोसिस के ख़तरे को कम कर सकते हैं।

सोया दूध (Soy milk)

हड्डियों को स्वस्थ रखने के लिए सोया दूध एक बेहतर विकल्प के तौर पर प्रयोग किया जाता है। नेशनल सेंटर फॉर बायोटेक्नोलॉजी इंफॉर्मेशन के अनुसार सोया दूध में नॉन स्टेरायडल फाइटोएस्ट्रोजन होता है, जो बढ़ती उम्र में हड्डियों में हो रहे क्षरण को कम करता है।

ब्लूबेरी स्मूदी (Blueberry smoothie)

स्वास्थ्य के लिहाज से ब्लूबेरी एक बहुउपयोगी फल है। यह न सिर्फ त्वचा और हृदय के स्वास्थ्य में सुधार करता है, बल्कि शरीर में मधुमेह को भी बढ़ने से रोकता है। यह माना जाता है कि ब्लूबेरी मानव अस्थिमज्जा की आस्टियोब्लास्ट कोशिकाओं को बढ़ाता है, जिससे हड्डियां मजबूत होती है हालांकि इस पर अभी और शोधों की आवश्यकता है।

ग्रीन टी (Green tea)

माना जाता है कि ग्रीन टी का सेवन भी शरीर की हड्डियों को मज़बूती प्रदान करता है। ग्रीन टी में फ्लोराइड होता है, जो ऑस्टियोपोरोसिस की प्रक्रिया को धीमा करता है, जिसके कारण हड्डियां धीरे-धीरे कमजोर करता है।

Leave a Reply

Your email address will not be published.