Diwali 2022: दिल्ली में दीया जलाओ पटाखे नहीं अभियान की शुरुआत, कनॉट प्लेस में जलाए गए 51 हजार दीये

कनॉट प्लेस में 51 हजार दीये जलाए गए। पर्यावरण मंत्री गोपाल राय ने 21 अक्टूबर, 2022 को ‘दीया जलाओ, पटाके नहीं’ अभियान का उद्घाटन किया।

Delhi न्यूज़

Diwali 2022: राजधानी दिल्ली में प्रदूषण को लेकर दिल्ली सरकार किस कदर अलर्ट है इसका अंदाजा इस बात से लगाया जाता है कि जहां एक ओर सीएम केजरीवाल ने दिल्ली में प्रदूषण से निपटने के लिए विंटर एक्शन प्लान जारी किया है वहीं पर्यावरण मंत्री गोपाल राय ने कनॉट प्लेस में दीप जलाओ पटाखे नहीं अभियान की शुरुआत की। इस दौरान कनॉट प्लेस में 51 हजार दीये जलाए गए।

गौरतलब है कि पर्यावरण मंत्री गोपाल राय ने 21 अक्टूबर, 2022 को ‘दीया जलाओ, पटाके नहीं’ अभियान का उद्घाटन किया। इस अभियान की शुरुआत को चिह्नित करने के लिए कनॉट प्लेस के सेंट्रल पार्क में 51 हजार दीये जलाए गए। इसका आयोजन पर्यावरण विभाग द्वारा पटाखों पर प्रतिबंध के बारे में जन जागरूकता फैलाने के लिए किया गया था।

कार्यक्रम के दौरान पर्यावरण मंत्री ने दिल्ली के लोगों से पटाखों की जगह दीयों से दिवाली मनाने की अपील की। उन्होंने उल्लेख किया कि अभियान का उद्देश्य लोगों को पटाखे फोड़ने से रोकना और उन्हें दीयों के साथ दिवाली मनाने के लिए प्रोत्साहित करना है।

गोपाल राय ने कहा, “पटाखों के फोड़ने से दिवाली के दौरान प्रदूषण में वृद्धि होती है। दिल्ली की हवा बहुत प्रदूषित हो जाती है और यह बच्चों और बुजुर्गों के लिए बहुत घातक है। आज हम 51 हजार दीये जलाकर इस अभियान की शुरुआत कर रहे हैं। हम यह जागरूकता अभियान पूरी दिवाली चलाएंगे। प्रदूषण को नियंत्रण में रखने के लिए जनता के सामूहिक प्रयास महत्वपूर्ण हैं।”

उन्होंने कहा कि इसे ध्यान में रखते हुए सरकार ने पटाखों के निर्माण, भंडारण, बिक्री (ऑनलाइन मार्केटिंग प्लेटफॉर्म के माध्यम से डिलीवरी सहित) और पटाखे फोड़ने पर पूर्ण प्रतिबंध लगा दिया है। हमने प्रतिबंध लागू करने के लिए 408 टीमों का गठन किया है। इन 408 टीमों में दिल्ली पुलिस की 210 टीमें, राजस्व विभाग की 165 टीमें और डीपीसीसी की 33 टीमें शामिल हैं. ये टीमें लगातार पूरी दिल्ली में निगरानी कर रही हैं।”

उन्होंने कहा कि यह दिन लोगों में जागरूकता बढ़ाने के लिए ‘दीया जलाओ, पटाखे नहीं’ अभियान की शुरुआत का प्रतीक है। यह उचित है कि हम त्योहार मनाते समय नागरिकों की सुरक्षा और भलाई सुनिश्चित करें। उन्होंने लोगों से अपील करते हुए कहा, “हम यह सुनिश्चित करेंगे कि दिल्ली में कहीं भी पटाखे जलाने से प्रदूषण न हो. मैं दिल्ली के लोगों और बच्चों से पटाखे नहीं बल्कि दीया जलाने की अपील कर रहा हूं. रेजिडेंट्स वेलफेयर एसोसिएशन (आरडब्ल्यूए)) पर्यावरण मित्र और इको क्लब भी इस अभियान का हिस्सा हैं। प्रदूषण को कम करने के लिए प्रत्येक व्यक्ति को अपना योगदान देना होगा। हमें यह समझना होगा कि हम पर्यावरण की सुरक्षा के लिए सामूहिक रूप से जिम्मेदार हैं। ”

Leave a Reply

Your email address will not be published.