Delhi Traffic Police की वेस्टर्न रेंज की ओर से चलाया गया जागरुकता अभियान

Delhi Traffic Police  की वेस्टर्न रेंज की ओर से राजौरी गार्डन व हरिनगर में जागरुकता अभियान चलाकर यातायात नियमों के प्रति लोगों को जागरूक किया गया।

न्यूज़
Awareness campaign launched by Western Range of Traffic Police

Delhi Traffic Police  की वेस्टर्न रेंज की ओर से राजौरी गार्डन व हरिनगर में जागरुकता अभियान चलाकर यातायात नियमों के प्रति लोगों को जागरूक किया गया। इस दौरान वाहन चालकों से लेकर स्कूली छात्रों तक को बताया गया कि सड़क से गुजरते वक्त किन बातों का ध्यान रखा जाए। ऑटो चालकों को बताया गया कि वे सवारियों के साथ अच्छा व्यवहार करें। हरिनगर स्थित बस डिपो में भी चालकों व कंडक्टरों को भी जागरूक किया गया।

समय के साथ-साथ सुरक्षा भी ज़रूरी

राजौरी गार्डन में बस व कार चालकों के बीच यातायात पुलिस के अधिकारी ने कहा कि अक्सर लोग गंतव्य तक जल्द से जल्द पहुंचने के दौरान यातायात नियमों की अनदेखी कर देते हैं। कई बार यह अनदेखी घातक बन जाती है। यह सभी को समझना चाहिए कि समय ज़रूरी है लेकिन हमारी सुरक्षा भी बेहद ज़रूरी है। वाहन चालक को अपनी सुरक्षा के साथ-साथ साथ में सवारियों व अपने परिजनों के बारे में भी सोचना चाहिए। चाहे कितनी भी जल्दबाज़ी क्यों न हो, यातायात नियमों का पालन करें।

ये भी पढ़ें : Delhi बनेगी अंतर्राष्ट्रीय फिल्म निर्माण का केंद्र, सरकार ने लांच की दिल्ली फिल्म पॉलिसी

स्कूली बच्चों के बीच भी पहुंचे अधिकारी

राजौरी गार्डन क्षेत्र स्थित कैंब्रिज फाउंडेशन स्कूल में भी यातायात पुलिस के अधिकारी पहुंचे। उन्होंने यहां बच्चों से कहा कि अभी वे भले ही वाहन चलाने योग्य नहीं हैं, लेकिन आने वाले समय में वे भी गाड़ी चलाने योग्य बनेंगे। बेहतर है कि अभी से यातायात नियमों के प्रति सचेत रहें। पुलिस अधिकारियों ने बच्चों से कहा कि वे इन नियमों के बारे में अपने परिवार के सदस्यों को भी बताएं।

यातायात पुलिस की पहल का स्वागत

राजौरी गार्डन निवासी हरजिंदर सिंह हैप्पी बताते हैं कि यातयात पुलिस द्वारा चलाए जा रहे इस जागरुकता अभियान से अच्छे नतीजे की उम्मीद की जानी चाहिए। यातायात पुलिस को चाहिए कि वह भी अपना ध्यान केवल चालान करने तक सीमित नहीं रखे। सड़क पर उनकी ड्यूटी का मतलब केवल यह देखना ही नहीं है कि किस वाहन ने लाल बत्ती पार की और किसने सीट बेल्ट या हेलमेट का इस्तेमाल नहीं किया। यातायात नियमों का दायरा इससे भी ज्यादा है। हरिनगर निवासी अनूप चावला व दिनेश जैन बताते हैं कि ऐसे अभियान समय-समय पर आयोजित होते रहने चाहिए। बेहतर होता कि इस अभियान में क्षेत्र की आरडब्ल्यूए को भी जोड़ा जाता।

Leave a Reply

Your email address will not be published.