दिल्ली सरकार ने छठ पर्व के लिए यमुना घाटों के आवंटन को दी मंजूरी दी

Delhi:दिल्लीवासियों के लिए छठ पर्व की तैयारियां जोरों पर हैं और इसी के मद्देनजर मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने दिल्ली में छठ पूजा के लिए यमुना घाटों के आवंटन को मंजूरी दे दी है।

Delhi न्यूज़

Delhi:दिल्लीवासियों के लिए छठ पर्व की तैयारियां जोरों पर हैं और इसी के मद्देनजर मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने दिल्ली में छठ पूजा के लिए यमुना घाटों के आवंटन को मंजूरी दे दी है। दिल्ली में रहने वाले यूपी और बिहार के लाखों लोगों की धार्मिक और आध्यात्मिक मान्यताओं और भावनाओं को ध्यान में रखते हुए, मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने यमुना नदी के किनारे विभिन्न घाटों पर छठ पूजा के उत्सव की अनुमति देने के राजस्व मंत्री कैलाश गहलोत के प्रस्ताव को मंजूरी दे दी है।

इस स्वीकृति के मद्देनज़र सभी जिलाधिकारियों को निर्देश जारी कर दिया गया है कि यमुना नदी में कोई प्रदूषणकारी सामग्री विसर्जित न हो इसके लिए अतिरिक्त उपाय किए जाएं। एनजीटी द्वारा जारी दिशा-निर्देशों को सुनिश्चित करने के लिए साइट पर बैनर, पोस्टर, ऑडियो संदेश, सीडीवी की तैनाती सहित उपायों को नियोजित किया जा सकता है।

छठ पूजा का त्योहार पारंपरिक रूप से दिल्ली में रहने वाले मुख्य रूप से उत्तर प्रदेश और बिहार राज्यों के लोगों द्वारा बहुत धार्मिक उत्साह के साथ मनाया जाता है। दिल्ली सरकार ने हमेशा घाटों के निर्माण के रूप में विभिन्न सुविधाएं प्रदान करके इस अवसर की सुविधा प्रदान की है, जहां भक्तों द्वारा प्रसाद चढ़ाने के स्थानों के आसपास सफाई सुनिश्चित की जाती है। प्रशासन इस साल भी करीब 1100 घाटों पर श्रद्धालुओं को सुविधा मुहैया कराने के लिए पूरी तरह तैयार है।

छठ पूजा पारंपरिक रूप से केवल सूर्य भगवान को जल चढ़ाकर मनाई जाती है और नदियों, नहरों और तालाबों में किसी अन्य सामग्री को चढ़ाने या विसर्जित करने की आवश्यकता नहीं होती है।

जिला प्रशासन यह भी सुनिश्चित करेगा कि यमुना नदी के सभी छठ घाटों पर अन्य सामान्य संदेशों के अलावा यमुना नदी की सफाई के लिए दिशानिर्देशों का पालन करने के संदेश भी एलईडी सिस्टम पर प्रदर्शित किए जा सकते हैं। श्रद्धालुओं की आवाजाही को सुगम बनाने के लिए सभी घाटों पर नागरिक सुरक्षा स्वयंसेवकों की तैनाती भी की जाएगी।

Leave a Reply

Your email address will not be published.