रिहायशी इलाकों में लग रहे मोबाइल टावर के विरोध में सेक्टरवासियो का प्रदर्शन

Noida सेक्टर 122 के रिहायशी इलाकों में लग रहे मोबाइल टावर के विरोध में रविवार को सेक्टरवासियो ने प्रदर्शन किया और नोएडा प्राधिकरण के खिलाफ नारेबाजी की।

Noida न्यूज़

Noida: सेक्टर 122 के रिहायशी इलाकों में लग रहे मोबाइल टावर के विरोध में रविवार को सेक्टरवासियो ने प्रदर्शन किया और नोएडा प्राधिकरण के खिलाफ नारेबाजी की। उनका कहना है कि ग्रीन बेल्ट में घरों के पास टावर लगाने से हम और हमारा परिवार इससे निकलने वाले रेडिएशन से असुरक्षित महसूस कर रहे हैं। यह अवैध रूप से लग रहे टावर बड़े ही गुपचुप तरीके से रातों-रात खड़ा किया जा रहा है इसके बारे में आरडब्ल्यूए को भी कोई जानकारी नहीं दी जा रही है।

डॉ केशव नथानी सेक्टर 122 के निवासी कहते हैं कि यह जो टावर दिखाई दे रहा है इसे हाल में ही लगाया गया है इसका काम अभी पूरा नहीं हुआ है किसी तरह के दो और टावर सेक्टर 122 में पहले ही लगाए जा चुके हैं। जिसकी वजह से सेक्टरवासी इन टावरों का विरोध कर रहे हैं सेक्टर में लगे इन टावरों को वह जीवन के लिए असुरक्षित मानते हैं, बिना सेक्टरवासियों की जानकारी के टावर लगातार खड़े किए जा रहे हैं उनका कहना है कि हम इसे कतई बर्दाश्त नहीं करेंगे।

ये भी पढ़ें: Noida: करोड़ों रुपए खर्च के बावजूद साइकिल ट्रैक योजना फाइलों में दफन

सेक्टर 122 की निवासी मुक्ता शर्मा कहती है, लोग पार्क में अपने आप को स्वस्थ रखने के लिए आते हैं, लेकिन इन मोबाइल टावरों से निकलने वाली रेडिएशन उन्हे बीमार बना रही है। वे कहती हैं कि सेक्टर 122 के ए ब्लॉक और सी ब्लॉक में पहले ही दो टावर लगाए जा चुके हैं जिसका सेक्टरवासी विरोध कर रहे हैं इसके बावजूद रातों-रात काम करके ग्रीन बेल्ट क्षेत्र में एक और टावर खड़ा कर दिया गया है।

सेक्टर 122 आरडब्ल्यूए के अध्यक्ष उमेश शर्मा कहते हैं कि इन टावरों को हटाने के लिए हमने नोएडा प्राधिकरण के सीईओ पुलिस और विधायकों से मिलकर अपनी शिकायत दर्ज करा चुके हैं लेकिन अब तक कोई भी कार्रवाई होती नजर नहीं आ रही है। सेक्टर में टावर लगाने का काम मोबाइल कंपनी और प्राधिकरण की मिलीभगत से हो रहा है। उन्होंने आरोप लगाया कि टावर कंस्ट्रक्शन का काम गुपचुप तरीके से रात में किया जाना इस बात की ताकीद करता है कि यह टावर अवैध तरीके से लगाए जा रहे हैं। उन्होंने कहा कि जब तक यह टावर हटाये नहीं जाएंगे हम लोग इसका विरोध करते रहेंगे।

Leave a Reply

Your email address will not be published.