बिंदापुर डीडीए फ्लैट्स कॉलोनी का उपायुक्त ने किया दौरा, आरडब्ल्यूए ने बताई समस्याएं

द्वारका परियोजना के तहत बसाई गई बिंदापुर डीडीए फ्लैट्स कॉलोनी में समस्याओं का जायजा लेने दिल्ली नगर निगम के नजफगढ़ जोन उपायुक्त कुमार अभिषेक बिंदापुर पहुंचे।

Delhi न्यूज़

Dwarka: द्वारका परियोजना के तहत बसाई गई बिंदापुर (Bindapur) डीडीए फ्लैट्स कॉलोनी में समस्याओं का जायजा लेने दिल्ली नगर निगम के नजफगढ़ जोन उपायुक्त कुमार अभिषेक बिंदापुर पहुंचे। यहां क्षेत्र की आरडब्ल्यूए ने उन्हें समस्याओं से अवगत कराया और उम्मीद जाहिर की कि इस दौरे का असर जल्द ही देखने को मिलेगा और बिंदापुर क्षेत्र का विकास आदर्श कॉलोनी के रूप में किया जाएगा।

पार्कों के रखरखाव का उठा मुद्दा

क्षेत्र की आरडब्ल्यूए के अध्यक्ष वीरेंद्र कुमार शर्मा ने उपायुक्त को बताया कि यहां कई पार्क ऐसे हैं जिनकी देखरेख सही तरीके से नहीं हो रही है। पार्कों में केवल पौधे लगाने से ही काम नहीं होगा, बल्कि इनकी देखरेख भी होनी चाहिए। पार्कों में लगे झूलों व ओपन जिम की भी समय समय पर मरम्मत होनी चाहिए। सिंचाई की भी समुचित व्यवस्था होनी चाहिए।

चारदीवारी को मरम्मत की दरकार

बिंदापुर कॉलोनी की देखरेख की जिम्मेदारी पहले डीडीए के पास थी, लेकिन धीरे धीरे यहां की सभी सेवाओं की जिम्मेदारी नगर निगम को सौंप दी गई। कॉलोनी की चारदीवारी की देखरेख के अभाव में जगह जगह क्षतिग्रस्त हो चुकी हैं। इसकी मरम्मत की मांग स्थानीय लोगों ने उठाई। कहा गया कि सुरक्षा के लिहाज से चारदीवारी की मरम्मत का कार्य अत्यंत जरूरी है।

ये भी पढ़ें: बिंदापुर आरडब्ल्यूए के कार्यालय में खुला पुस्तकालय

जलभराव रोकने को लेकर हो रहे कार्य का लिया जायजा

बिंदापुर कॉलोनी में जलभराव एक स्थायी समस्या है। अब समस्या के समाधान के प्रयास के तहत एक पाइप लाइन बिछाई जा रही है जो कॉलोनी में एकत्रित होने वाली बारिश के पानी को द्वारका के मुख्य ड्रेन तक पहुंचाएगी। इस कार्य का उपायुक्त ने जायजा लिया।

अतिक्रमण का भी उठा मुद्दा

उपायुक्त के समक्ष क्षेत्र के लोगों ने अतिक्रमण का भी मुद्दा उठाया। लोगों ने कहा कि क्षेत्र में कई साप्ताहिक बाजार ऐसे हैं जो बिना अनुमति के संचालित किए जा रहे हैं। इसके अलावा जगह जगह रेहड़ी वाले सड़क घेर कर खड़े हो जाते हैं। कुल मिलाकर सड़क का एक बड़ा हिस्सा अतिक्रमण की चपेट में है। उपायुक्त ने अपने साथ मौजूद सहायक आयुक्त मनीष मीणा को इस मुद्दे पर गौर करने को कहा। इसके अलावा लोगों ने फुटपाथों का अतिक्रमण, अवैध पार्किंग, बेसहारा पशु, शौचालय, जल निकासी की व्यवस्था आदि का भी मुद्दा उठाया।

Leave a Reply

Your email address will not be published.