पंजाबी बाग और राजा गार्डन के बीच फ्लाईओवर का होगा विस्तार

दिल्ली-एनसीआर की प्रमुख सड़कों पर भारी ट्रैफिक जाम न केवल यात्रियों के लिए परेशानी का सबब है, बल्कि पर्यावरण के लिए भी चिंता का विषय है।

Delhi न्यूज़

Delhi:दिल्ली-एनसीआर की प्रमुख सड़कों पर भारी ट्रैफिक जाम न केवल यात्रियों के लिए परेशानी का सबब है, बल्कि पर्यावरण के लिए भी चिंता का विषय है। जबकि कई जगहों पर समस्या अभी भी मौजूद है, पश्चिमी दिल्ली के पंजाबी बाग और राजा गार्डन के बीच फ्लाईओवर पर यातायात को कम किया जा सकता है।

उपमुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया ने 29 सितंबर, 2022 को पंजाबी बाग से राजा गार्डन तक मौजूदा फ्लाईओवर के दोहरीकरण और विस्तार की आधारशिला रखी। इस परियोजना को पीडब्ल्यूडी की कॉरिडोर विकास और फ्लाईओवर निर्माण योजना के तहत किया जाएगा और इसकी लागत रु। 352.3 करोड़।

इस मौके पर मनीष सिसोदिया ने साझा किया कि इस परियोजना के तहत पंजाबी बाग में दोनों सिंगल फ्लाईओवर को दोगुना किया जाएगा। यहां दोनों मौजूदा फ्लाईओवर 2 लेन के हैं और दोनों एकतरफा हैं। इस परियोजना के तहत मौजूदा दोनों फ्लाईओवर में एक लेन जोड़ा जाएगा और प्रत्येक में 3 लेन के नए फ्लाईओवर का निर्माण किया जाएगा। निर्माण के बाद इस मार्ग पर दोतरफा वाहनों की आवाजाही की अनुमति होगी। फ्लाईओवर के दोहरीकरण के बाद इसे पंजाबी बाग से राजा गार्डन तक 1400 मीटर तक बढ़ाया जाएगा।

पंजाबी बाग फ्लाईओवर और राजा गार्डन फ्लाईओवर के बीच कॉरिडोर विकास और फ्लाईओवर निर्माण परियोजना के तहत कुछ प्रमुख बिंदु हैं-

  • ईएसआई अस्पताल से पंजाबी बाग क्लब रोड तक 6 लेन एलिवेटेड कॉरिडोर का निर्माण
  • मौजूदा दो लेन वाले वन-वे फ्लाईओवर की क्षमता को बढ़ाकर पंजाबी बाग में 6-लेन टू-वे फ्लाईओवर का निर्माण।
  • ईएसआई अस्पताल के पास मौजूदा सबवे रैंप को कैरिजवे के दोनों ओर सर्विस रोड की ओर स्थानांतरित करना
  • इसके अलावा आरसीसी नाला, फुटपाथ, मौजूदा सड़क के सुदृढ़ीकरण और कला-कार्य का कार्य।

पंजाबी बाग फ्लाईओवर और राजा गार्डन फ्लाईओवर के बीच यह गलियारा रिंग रोड का हिस्सा है जहां रोहतक रोड (एनएच -10) का उपयोग कर हरियाणा से आने वाले वाहनों के कारण ट्रैफिक लोड बहुत अधिक है। इसके साथ ही यह उत्तरी दिल्ली को दक्षिणी दिल्ली, गुड़गांव और एनसीआर के अन्य हिस्सों से जोड़ने का भी काम करता है। मौजूदा वन-वे फ्लाईओवर और कम क्षमता वाले चौराहे वर्तमान ट्रैफिक लोड के लिए पर्याप्त नहीं हैं, जिससे अक्सर भारी ट्रैफिक जाम हो जाता है। नए फ्लाईओवर के निर्माण और मौजूदा लोगों के विस्तार से इस सड़क पर लाखों लोगों को लाभ होने की उम्मीद है।

उन्होंने कहा कि इस फ्लाईओवर के बनने से सालाना 1.60 लाख टन कार्बन उत्सर्जन में कमी आएगी और सालाना 18 लाख लीटर ईंधन की बचत होगी। इसके साथ ही लोग सालाना 200 करोड़ रुपये की बचत कर सकेंगे और परियोजना की कुल लागत सिर्फ 1.5 साल में वसूल हो जाएगी।

मनीष सिसोदिया ने कहा, “फ्लाईओवर के विस्तार और दोहरीकरण से रिंग रोड कॉरिडोर के इस हिस्से पर ट्रैफिक लोड काफी कम हो जाएगा। इससे यात्रियों के समय की बचत के साथ-साथ ईंधन की खपत में भी कमी आएगी। यह आगामी फ्लाईओवर पंजाबी बाग के इस हिस्से में यातायात को कम करेगा।

उद्घाटन समारोह में मोती नगर के विधायक शिव चरण गोयल, मादीपुर के विधायक गिरीश सोनी, पीडब्ल्यूडी इंजीनियर इन चीफ अनंत कुमार और दिल्ली सरकार के अन्य वरिष्ठ अधिकारी मौजूद थे।

Leave a Reply

Your email address will not be published.