GB Nagar: सार्वजनिक स्थलों पर किराए पर उपलब्ध होंगी ई-बाइक

नोएडा और ग्रेटर नोएडा प्राधिकरण ने एक बहुत जरूरी कदम उठाते हुए सभी मेट्रो स्टेशनों के साथ-साथ अन्य व्यस्त सार्वजनिक क्षेत्रों में लोगों को किराए पर इलेक्ट्रिक बाइक उपलब्ध कराने का फैसला किया है।

Noida न्यूज़

Noida: नोएडा और ग्रेटर नोएडा में अपर्याप्त सार्वजनिक परिवहन सेवाएं की समस्पुया काफी पुरानी है। नोएडा और ग्रेटर नोएडा प्राधिकरण ने एक बहुत जरूरी कदम उठाते हुए सभी मेट्रो स्टेशनों के साथ-साथ अन्य व्यस्त सार्वजनिक क्षेत्रों में लोगों को किराए पर इलेक्ट्रिक बाइक उपलब्ध कराने का फैसला किया है। इसके लिए अधिकारियों ने 350 ई-बाइक खरीदने का फैसला किया है, जिसे लोग 2 रुपये प्रति मिनट की दर से किराए पर ले सकेंगे। सूत्रों के मुताबिक ई-बाइक योजना की टेंडर प्रक्रिया भी इसी महीने शुरू हो सकती है।

क्षेत्र के निवासियों के अनुसार, हालांकि नोएडा और ग्रेटर नोएडा में मेट्रो सेवाएं और बस सेवाएं उपलब्ध थीं, लेकिन कम दूरी की यात्रा करना निवासियों के लिए एक चुनौती थी। नोएडा में रोड सेफ्टी फाउंडेशन, 7X वेलफेयर के संस्थापक ब्रजेश शर्मा कहते हैं, “यह उन यात्रियों के लिए एक बहुत अच्छी पहल है जहां कोई भी इस प्रदूषण रहित परिवहन के माध्यम से एक स्थान से दूसरे स्थान तक यात्रा कर सकता है। सामान्य तौर पर, न्यूनतम लागत ई रिकशॉ ₹10 से कम नहीं है। यहां यह 2 रुपये प्रति मिनट है जो छोटी दूरी के लिए बहुत मायने रखता है।”

ये भी पढ़ें: Noida: में करवा चौथ की तैयारियां शुरू, बाजारों में लगी महिलाओं की भीड़

उन्होंने आगे कहा, “हालांकि, गति पर सुरक्षा, यातायात नियम, हेलमेट आदि को अधिकारियों के साथ-साथ सवारों द्वारा भी ध्यान में रखा जाना चाहिए।”

जानकारी के अनुसार इस योजना पर नोएडा प्राधिकरण वर्ष 2020 से काम कर रहा था। प्राधिकरण द्वारा ई-बाइक योजना के लिए एक निविदा भी मंगाई गई थी, लेकिन दिल्ली की एक एजेंसी ने 2021 में इसमें रुचि दिखाई।

एक अन्य निवासी इंद्राणी मुखर्जी, सेक्टर 78, महागुन मॉडर्न की रहने वाली है, की राय कुछ और ही है। वह कहती हैं, “मुझे लगता है कि इस कदम की योजना बनाने से पहले, अधिकारियों को यह सोचना चाहिए था कि इसका उपयोग कौन करेगा- मुख्य रूप से मध्यम वर्ग और निम्न-मध्यम वर्ग के यात्रियों के लिए। उनके लिए, यह लागत अधिक होगी।”

फिर भी, इस महीने प्राधिकरण को कुछ अच्छे संकेत मिले हैं। इसको लेकर दो एजेंसियों से बातचीत चल रही है। दोनों को शॉर्टलिस्ट भी किया गया है ताकि इस साल नवंबर तक नोएडा और ग्रेटर नोएडा में यह सेवा शुरू की जा सके।

Leave a Reply

Your email address will not be published.