उपराज्यपाल ने डीडीए को वसंत उद्यान (बाग-ए-बहार) में और अधिक सांस्कृतिक कार्यक्रमों एवं आयोजनों को बढ़ावा देने का निर्देश दिया

माननीय उपराज्यपाल, श्री वी.के. सक्सेना ने कल वसंत विहार में वसंत उद्यान का दौरा किया और पार्क में किए गए विकास कार्यों का जायजा लिया। इसके विस्तार का जायजा लेने के दौरान, श्री सक्सेना ने निर्देश दिया कि पार्क के एम्फीथिएटर क्षेत्र में और अधिक सांस्कृतिक कार्यक्रम आयोजित किए जाएं, और स्थानीय कलाकारों तथा अदाकारों […]

Delhi न्यूज़

माननीय उपराज्यपाल, श्री वी.के. सक्सेना ने कल वसंत विहार में वसंत उद्यान का दौरा किया और पार्क में किए गए विकास कार्यों का जायजा लिया। इसके विस्तार का जायजा लेने के दौरान, श्री सक्सेना ने निर्देश दिया कि पार्क के एम्फीथिएटर क्षेत्र में और अधिक सांस्कृतिक कार्यक्रम आयोजित किए जाएं, और स्थानीय कलाकारों तथा अदाकारों को पार्क में प्रदर्शन करने के लिए प्रोत्साहित किया जाए। उन्होंने निर्देश दिया कि डीडीए इन कलाकारों से सुविधाओं का उपयोग करने के लिए कोई शुल्क वसूल न करे ।

वसंत विहार में वसंत उद्यान पार्क जिसे बाग-ए-बहार के नाम से भी जाना जाता है, सभी आधुनिक सुविधाओं से युक्त डीडीए का एक प्रतिष्ठित पार्क है। पार्क का पुनर्विकास कार्य वर्ष 2020 में पूरा किया गया था। पार्क को इंडिया पवेलियन, लंदन बिनाले 2021 में प्रदर्शित करने के लिए चुना गया था, जो दुनिया के सबसे महत्वाकांक्षी और कल्पनाशील डिजाइनरों, क्यूरेटरों और डिजाइन संस्थानों की वैश्विक सभा है।

43.17 एकड़ में फैले हुए इस पार्क में बच्चों के खेलने हेतु विभिन्न उपकरणों से युक्त प्ले एरिया , ओपन जिम, पॉप अप सिंचाई प्रणाली, आम जनता हेतु सुविधा , विभिन्न प्रकार की लाइटें, जिसमें बगीचे की लालटेन भी शामिल है, जैसी सुविधाएं हैं। लोगों की बेहतर सुरक्षा के लिए इसमें सीसीटीवी लगे हैं।

उपराज्यपाल ने हरित क्षेत्र के डिजाइन, विकास और रखरखाव के साथ-साथ पार्क में विरासत संरचनाओं को बनाए रखने के तरीके की भी सराहना की।

हरित क्षेत्र के लैंडस्केप डिजाइन में शामिल किए गए ऐतिहासिक संदर्भों को देखते हुए, श्री सक्सेना ने अधिकारियों को अन्य पार्कों जिनमें ऐसी विरासत संरचनाएं हैं, में भी इस पद्धति को दोहराने का निर्देश दिया।

उपराज्यपाल महोदय ने अपेक्षित सुरक्षा उपायों के साथ पुरातत्व विभाग, जीएनसीटीडी द्वारा सांस्कृतिक कार्यक्रम आयोजित करने के लिए स्मारक के बारादरी क्षेत्र का पता लगाने के लिए भी कहा।

Leave a Reply

Your email address will not be published.