दिल्ली नगर निगम अमृत सरोवर मिशन के पहले चरण में 20 तालाबों का करेगा जीर्णोधार

दिल्ली नगर निगम (MCD) की अमृत सरोवर मिशन के पहले चरण में अपने 20 तालाबों का जीर्णोधार करके इनका सौंदर्यीकरण करने की योजना है।

Delhi न्यूज़

नई दिल्ली। दिल्ली नगर निगम (MCD) की अमृत सरोवर मिशन के पहले चरण में अपने 20 तालाबों का जीर्णोधार करके इनका सौंदर्यीकरण करने की योजना है। अमृत सरोवर मिशन का शुभारंभ देश के माननीय प्रधानमंत्री श्री नरेंद्र मोदी जी के द्वारा आजादी के अमृत महोत्सव के अंतर्गत किया गया है। इस मिशन के माध्यम से प्रत्येक राज्य के प्रत्येक जिले में 75 से अधिक तालाबों का निर्माण करवाया जाएगा, जिससे कि गर्मी के समय में होने वाले भू-जल की कमी को दूर किया जा सकेगा।

दिल्ली नगर निगम द्वारा प्रस्तावित 20 तालाबों के जीर्णोधार की योजना के लिए धन केंद्र सरकार के आवास एवं शहरी विकास मंत्रालय द्वारा उपलब्ध कराया जायेगा। मानव जीवन के लिए जल जरूरी है। इसी संकल्पना से प्रेरणा लेते हुए इन तालाबों के निकट एस.टी.पी. लगाए जायेंगे या इनके समीप स्थित एस.टी.पी. के जल का प्रवाह, बारिश के पानी को इन तालाबों में डाल कर उस क्षेत्र के भू-जल स्तर को सुधारने में मदद मिलेगी।

दिल्ली नगर निगम द्वारा इन तालाबों का सौंदर्यीकरण किया जाएगा जिसके अंतर्गत इनके चारों और फुटपाथ, शेड, बेंच इत्यादि लगाए जायेंगे जिससे नागरिक इन तालाबों का इस्तेमाल विश्राम एवं मनोविनोद स्थलों के रूप में कर सकेंगे तथा जीवन में पानी के महत्व के बारे में भी जान पाएंगे।

ये भी पढ़ें: Delhi: लेन नियमों की अवहेलना पर परिवहन विभाग सतर्क, परिवहन मंत्री खुद उतरे सड़क पर

दिल्ली नगर निगम अमृत सरोवर के अंतर्गत 20 तालाबों जैसे कि द्वारका सेक्टर 8 स्थित जहाजवाला पार्क में स्थित लगभग 1 एकड़ में फैले तालाब, पालम गांव स्थित 3.5 एकड़ में फैले तालाब, मसूदपुर गांव स्थित लगभग 2 एकड़ में फैले तालाब, नरेला स्थित पाना पपोसिया स्थित 1.25 एकड़ में फैले तालाब,गाजीपुर गांव स्थित लगभग 1.5 एकड़ में फैले तालाब,लगभग 32 एकड़ में फैली वेलकम झील के दूसरे चरण के कार्य, मॉडल टाउन स्थित 6.5 एकड़ में फैली नैनी झील इत्यादि।

मॉडल टाउन स्थित नैनी झील के जीर्णोधार के अंतर्गत उसकी चारदीवारी ऊंची की जाएगी, फुटपाथ की मरम्मत की जाएगी तथा कोरोनेशन पार्क स्थित एसटीपी से जल लाकर झील में डाला जाएगा। इस प्रकार से दिल्ली नगर निगम पहले चरण में 31 मार्च 2023 तक इन जल इकाइयों के जीर्णोधार एवं सौंदर्यीकरण का कार्य पूरा कर लेगा।

Leave a Reply

Your email address will not be published.