Noida Authority करेगा पार्किंग के लिए नई एजेंसियों को नियुक्त

Noida Authority ने सोमवार 23 मई को शहर के सभी साठ पार्किंग स्थलों के टेंडर रद्द कर दिए। नए अटेंडेंट नियुक्त करने के लिए एजेंसियों को नए टेंडर जारी किए जाएंगे।

न्यूज़

Noida: नोएडा प्राधिकरण (Noida Authority) ने सोमवार 23 मई को शहर के सभी साठ पार्किंग स्थलों के टेंडर रद्द कर दिए। नए अटेंडेंट नियुक्त करने के लिए एजेंसियों को नए टेंडर जारी किए जाएंगे। इससे निवासियों को पहले की तुलना में पार्किंग की बेहतर सुविधाएं मिलेगीं।

नोएडा के निवासी पिछले कुछ महीनों से पार्किंग अटेंडेंट द्वारा अधिक शुल्क लेने और परेशान करने की शिकायत कर रहे थे। पार्किंग अटेंडेंट को काम पर रखने के लिए जिम्मेदार ठेकेदारों के खिलाफ कार्रवाई करने के लिए निवासी लगातार अधिकारियों से शिकायत कर रहे थे।

एक या दो महीने में नए ठेकेदारों का चयन होने की उम्मीद है। इस बीच, प्राधिकरण ने ठेकेदारों को अन्य की नियुक्ति होने तक पार्किंग की सतह का प्रबंधन करने का निर्देश दिया है।

ये भी पढ़ें: Noida के उद्योगों और सोसायटी में हो रही है अग्निसुरक्षा के मानकों की अनदेखी, 164 इमारतों को नोटिस के बाद भी आग से बचाव के इंतजाम नहीं

नोएडा की सीईओ रितु माहेश्वरी ने एक बयान में कहा, “हमने नए ठेकेदारों को लेने की अनुमति देने वाली निविदाएं रद्द कर दी हैं। हमने यह निर्णय तब लिया जब हमें सतह पार्किंग स्थल का प्रबंधन करने वाले ठेकेदारों के खिलाफ शिकायतें मिलीं।”

हमने इस समस्या को बेहतर ढंग से समझने के लिए नोएडा के कुछ निवासियों से बात की।

सेक्टर-78 निवासी ब्रजेश शर्मा कहते हैं, “ऐसा लगता है कि कानून और व्यवस्था नाम की कोई चीज ही नहीं है। पार्किंग अटेंडेंट का एकाधिकार होता है जो सप्ताहांत के दौरान निवासियों से अधिक शुल्क लेते हैं। पार्किंग अटेंडेंट हमें पर्ची नहीं देते हैं और न ही कोई जांच होती है नोएडा प्राधिकरण इतनी शिकायतों के बाद अब कार्रवाई कर रहा। प्राधिकरण को अपने अधिकारियों को सिविल ड्रेस में भेजना चाहिए ताकि यह जांचा जा सके कि परिचारक अपना काम ठीक से कर रहे हैं या नहीं।”

राजीव शर्मा, आरडब्ल्यूए अध्यक्ष सेक्टर 62 कहते हैं, “पार्किंग अटेंडेंट निवासियों के साथ दुर्व्यवहार करते हैं। कभी-कभी, वे अनुपस्थित रहते हैं जब कोई निवासी अपनी कार को पार्किंग से बाहर निकालना चाहता है तो अटेंडेंट लोगों से बहस करते हैं।

पार्किंग स्थल सेक्टर 16ए, 1, 3 और 5 में भूमिगत स्थित हैं, जहां पार्किंग के लिए शुल्क पहले दो घंटों के लिए 20 रुपए और उसके बाद 10 रुपए प्रति घंटे हैं। इन सुविधाओं पर अधिकतम टैरिफ 80 रुपए है। दोपहिया वाहनों को पहले दो घंटे के लिए 10  रुपए का भुगतान करना होगा। इसके बाद प्रति घंटे 5 रुपए, अधिकतम 40 रुपए की सीमा के साथ।

सेक्टर 18 में मल्टी-लेवल कार पार्किंग (एमएलसीपी) सुविधाओं के बगल में स्थित पार्किंग में  पहले दो घंटों के लिए 30 रुपए और अतिरिक्त समय के लिए 10 रुपए प्रति घंटा होता हे। वहीं दोपहिया वाहन पहले दो घंटे के लिए ₹10 का भुगतान करते हैं, और फिर 5 रुपए प्रति घंटे देना पड़ता है। दूसरी ओर 38A कार पार्किंग में उपयोगकर्ताओं को पहले दो घंटों के लिए 30 रु अतिरिक्त समय के लिए 10 प्रति घंटा देना होता है। दोपहिया वाहन चालकों को  पहले दो घंटों के लिए 10, और फिर रु. 5 प्रति घंटा का भुगतान करना पड़ता है।

Leave a Reply

Your email address will not be published.