Delhi: टैगोर गार्डन में खुला नाला व अतिक्रमण एक बड़ी मुसीबत

टैगोर गार्डन के लोग दो समस्याओं से काफी दुखी हैं। पहली समस्या कॉलोनी से गुजरने वाली तितारपुर ड्रेन की है। दूसरी समस्या सड़क किनारे अतिक्रमण की है।

Delhi न्यूज़

Delhi: पॉश कही जाने वाली कॉलोनी टैगोर गार्डन (Tagore Garden) के लोग दो समस्याओं से काफी दुखी हैं। पहली समस्या कॉलोनी से गुजरने वाली तितारपुर ड्रेन की है। दूसरी समस्या सड़क किनारे अतिक्रमण की है। स्थानीय लोगों का कहना है कि दोनों समस्याएं यदि दुरुस्त कर ली जाए, तो टैगोर गार्डन दिल्ली की ऐसी पहली कॉलोनी बन सकती है जो समस्याओं से मुक्त हो। यह भी पढ़ें : Nag Panchami 2022 : क्यों मनाई जाती है नागपंचमी, क्या है इसका पौराणिक महत्व

खुला है तितारपुर ड्रेन

टैगोर गार्डन से गुजरने वाली तितारपुर ड्रेन का बड़ा हिस्सा ढका जा चुका है। लेकिन करीब 500मीटर का हिस्सा खुला है। इस खुले हिस्से में कचरा ही जमा रहता है। बारिश के समय इससे पानी निकलकर सड़क पर आ जाता है। नाले की बदबू लोगों के लिए परेशानी का सबब है। हाल फिलराल इस नाले में एक शव बरामद हुआ। लोगों का कहना है कि अगर यह नाला खुला नहीं होता तो इसमें शव नहीं मिलता। जिस व्यक्ति का शव बरामद हुआ उसकी हत्या हुई या वह नाले में गलती से गिर गया, यह कोई नहीं जानता। लेकिन एक बार तय है कि यदि यह नाला ढका होता तो यह नौबत नहीं आती। यह भी पढ़ें : दिल्ली जल बोर्ड ने खुदाई के बाद सड़क को उसके हाल पर छोड़ा, विकासपुरी निवासी परेशान

अतिक्रमण

टैगोर गार्डन मेन रोड के किनारे सड़क पर झुग्गियां हैं। स्थानीय लोगों का कहना है कि झुग्गी को कभी हटाने की कोशिश नहीं हुई। अब इस झुग्गी के कारण सड़क का आकार छोटा हो गया। नाले की सफाई में दिक्कत होती है। फुटपाथ नजर नहीं आते। आखिर सरकारी एजेंसियाें की नींद तब क्यों नहीं खुली, जब यहां झुग्गी बसाए जा रहे थे। अब तो यहां लोगों के पास आधार कार्ड व मतदाता पहचान पत्र तक हैं। सरकार को चाहिए कि वह यहां रहने वाले लोगों को वैकल्पिक प्लॉट देकर कहीं अन्य जगह पर बसाए। यह भी पढ़ें : अगर आप ब्यूटी पार्लर जाने का प्लान कर रही हैं तो बहुत ज़रूरी है कुछ ख़ास सावधानियां बरतना।

Leave a Reply

Your email address will not be published.