करीब 20-20 घंटों के बिजली कट से परेशान लोगों ने किया प्रदर्शन

लोगों को पिछले करीब तीन चार साल से गर्मी के मौसम में इसी तरह से परेशानी का सामना करना पड़ रहा है।

Faridabad न्यूज़

Faridabad: दिल्ली एनसीआर के शहरों में रहने वाले लोगों को ग्रेटर फरीदाबाद में अपना घर देने का सपना दिखाकर बिल्डरों ने लाखों रुपए तो ले लिए, लेकिन बिल्डरों द्वारा विकसित की गई अनेक सोसायटियों में सुविधा के नाम पर कुछ भी नहीं दिया। ऐसे में विभिन्न सोसायटियों में रहने वाले लोग खुद को ठगा हुआ महसूस कर रहे हैं। ग्रेटर फरीदाबाद के लोगों को आए दिन विभिन्न तरह की समस्याओं का सामना करना पड़ रहा है। बीपीटीपी की विभिन्न सोसायटियों के निवासियों को इस तेज गर्मी के मौसम में बिना बिजली के रात गुजारने को मजबूर होना पड़ रहा है। सोसायटी वासियों का कहना है कि पूरे दिन में मात्र चार से पांच घंटे ही बिल्डर द्वारा बिजली की आपूर्ति की रही है। लोगों को पिछले करीब तीन चार साल से गर्मी के मौसम में इसी तरह से परेशानी का सामना करना पड़ रहा है। बीपीटीपी के सेक्टरों में जितनी बिजली की खपत है,उसके मुताबिक बिल्डर ने लोड नहीं लिया हुआ है। ऐसे बार बार कट लगाकर इधर से उधर बिजली की आपूर्ति कर रहे हैं। समस्या से त्रस्त होकर विभिन्न सोसायटियों में रहने वाले सैंकड़ों लोग शनिवार को बिल्डर के कार्यालय में जा पहुंचे। जहां उन्होंने जमकर नारेबाजी करने के बाद कार्यालय पर ताला जड़ दिया। बिल्डर द्वारा समस्या का समाधान करने का आश्वासन देने पर लोग शांत हुए।

14 सोसायटियों में बिजली समस्या

ग्रेटर फरीदाबाद के सेक्टर 75 से 89 तक बीपीटीपी की कई सोसायटियां बनी हुई हैं। इन विभिन्न सोसायटियों में करीब 30 हजार से ज्यादा आबादी बसी हुई है। बताया गया है कि इन सभी सोसायटियों में बिल्डर द्वारा लोगों के घरों में खुद बिजली की आपूर्ति की जा रही है। मकानों की संख्या और बिजली की खपत के हिसाब से बिल्डर ने पैसे बचाने के लिए बिजली निगम से काफी कम लोड लिया हुआ है। सर्दी के मौसम में तो किसी तरह गुजारा चल जाता है, लेकिन बिल्डर की इस लापरवाही की वजह से गर्मी के मौसम में बिजली के अभाव में स्थिति बद से बदतर हो जाती है। बिजली का लोड बढ़ते ही बिल्डरों द्वारा कट लगाकर बारी बारी अलग अलग सोसायटियों में बिजली की आपूर्ति की जाती है। इस तरह से एक सोसायटी में 24 घंटे के दौरान मात्र चार से पांच घंटे ही बिजली की आपूर्ति हो पाती है। ऐसे में इन दिनों पड़ रही तेज गर्मी में सोसायटी वासियों को रात बिना बिजली के तड़प-तड़प कर काटनी पड़ती है। लगातार शिकायत करने के बावजूद बिल्डर समस्या पर ध्यान नहीं दे रहे है।

सातवें आसमान पर गुस्सा

बिल्डर की लापरवाही अथवा मनमाने तरीके से की जा रही बिजली की कटौती को देखकर विभिन्न सोसायटियों में रहने वाले लोग बुरी तरह त्रस्त हो चुके हैं। कई रात बिना बिजली के काटने की वजह से लोगों का गुस्सा सातवें आसमान पर पहुंच गया। ऐसे में सैंकड़ों की संख्या में गुस्साए लोग इकट्ठे होकर सेक्टर 81 स्थित बीपीटीपी के नेक्सट डोर बिल्डिंग में स्थित कार्यालय पर जा पहुंचे। जहां बिजली समस्या से परेशान लोगों ने बिल्डर के खिलाफ जमकर नारेबाजी करनी शुरू कर दी, लेकिन इसके बाद भी जब कोई सुनने को तैयार नहीं हुआ तो गुस्साए लोग कार्यालय के भीतर जा घुसे और वहां मौजूद बिल्डर के कर्मचारियों को जमकर खरी खोटी सुनाने लगे। इस दौरान परेशान लोगों ने गुस्से की हालत में बिल्डर के कार्यालय पर ताला तक जड़ दिया। लोगों को भारी गुस्से में देख बिल्डर के कर्मचारियों ने उन्हें शांत करने का प्रयास किया इस दौरान कर्मचारियों ने उन्हें जल्दी ही समस्या के समाधान का आश्वासन दिया। उन्होंने एक अन्य लाइन से बिजली की आपूर्ति करने का आश्वासन दिया है।

अन्य समस्याओं से भी त्रस्त

ग्रेटर फरीदाबाद के 14 सेक्टरों में स्थित बीपीटीपी की सोसायटियों में रहने वाले हजारों लोग सिर्फ बिजली की ही नहीं बल्कि अन्य कई समस्याओं को लेकर खासे परेशान हैं। लोगों का कहना है कि बिल्डर द्वारा हर महीने मैंटीनेंस के नाम पर करोड़ों रुपया वसूला जा रहा है। लेकिन सुविधाओं के नाम पर कुछ भी नहीं दिया जा रहा है। बिल्डरों द्वारा यहां के घरों में आए दिन दूषित पानी की आपूर्ति की जा रही है। पिछले दिनों एक एक टैंक में गंदगी और अन्य जीव जंतु पाए गए थे। वहीं एक अन्य सोसायटी में बिल्डर के कर्मचारियों ने घरों में सीवरयुक्त पानी की आपूर्ति कर दी थी। बिल्डर की हर सोसायटी में एक-एक दो-दो पार्क हैं। रख रखाव के अभाव में ज्यादातर पार्को की हालत दयनीय बनी हुई हैं। वहीं अनेक पार्को के ऊपर से हाईटेंशन बिजली की तारें गुजर रही है। वहीं सोसायटियों में जरूरत के मुताबिक सुरक्षा कर्मचारियों की तैनाती भी नहीं की गई है। सफाई भी सोसायटियों में सिर्फ दिखावे के लिए ही की जाती है। मैंटीनेंस की रकम बिल्डर को देकर लोग ठगा हुआ महसूस कर रहे हैं।

झेल रहे हैं परेशानी

प्रदर्शनकारियों की अगवाई करने रहे मुकेश शर्मा का कहना है कि वैसे तो यहां की सोसायटियों में बिजली की समस्या पिछले करीब नौ साल से बनी हुई है। आबादी बढऩे के बाद पिछले तीन साल से समस्या ने गंभीर रूप धारण कर लिया है। लगातार शिकायत करने के बाद भी समस्या का समाधान नहीं हो रहा था। परेशान होकर सोसायटी वासियों को आंदोलन का रास्ता अपनाना पड़ा। समस्या का जल्द समाधान नहीं हुआ तो वे फिर प्रदर्शन करेंगे।

Leave a Reply

Your email address will not be published.