Dwarka: साइबर धोखाधड़ी से बचने की द्वारका में पुलिस ने किया जागरूक

Dwarka: सेक्टर 9 स्थित ट्रिनिट इंस्टीटयूट आफ प्रोफेशनल स्टडीज कैंपस में द्वारका जिला पुलिस ने साइबर जागरूकता कार्यक्रम का आयोजन किया।

न्यूज़

Dwarka: सूचना प्रौद्योगिकी (Information Technology) के दौर में हम सभी का इंटरनेट वे वास्ता रोजाना पड़ता है। बैंकिंग से लेकर पढ़ाई लिखाई के कार्य में इंटरनेट का इस्तेमाल हमलोग रोेज करते हैं। आजकल ऑनलाइन शॉपिंग का भी खूब चलन है। इंटरनेट के तमाम फायदे के बीच आजकल इसके खतरे भी बहुत हैं। धोखाधड़ी के मामले खूब बढ़े हैं। बैंक खातों से पैसे बदमाश उड़ा रहे हैं। द्वारका सेक्टर 9 स्थित ट्रिनिट इंस्टीटयूट आफ प्रोफेशनल स्टडीज कैंपस में द्वारका जिला पुलिस ने साइबर जागरूकता कार्यक्रम का आयोजन किया। यहां इंस्टीटयूट में पढ़ने वाले विद्यार्थियों को पुलिसकर्मियों ने उन उपायों की जानकारी दी, जिसके इस्तेमाल से धोखाधड़ी से बच सकते हैं। पुलिस ने सभी से अपील करते हुए कहा कि यहां जो भी जानकारियां उन्हें मिली हैं, इसका प्रसार वे अपने परिचितों में करें। कार्यक्रम में साइबर थाना प्रभारी इंस्पेक्टर जगदीश कुमार व मेडिकॉम यूनिट के प्रभारी एएसआई मनीष मधुकर सहित अनेक व्यक्ति उपस्थित थे।

ये भी पढ़ें: Dwarka: स्कूलों के आसपास तंबाकू बेचने वालों के खिलाफ कसा जा रहा शिकंजा

इन बातों पर दें ध्यान

क्यूआर कोड व यूपीआइ पिन का उपयोग सिर्फ पेमेंट के लिए होता है, राशि प्राप्त करने के लिए नहीं। ठग आजकल क्यूआर कोड भेजकर ठगी कर रहे हैं। अनचाहे मैसेज लिंक को क्लिक नहीं करें। ओटीपी शेयर नहीं करें। एसएमएस अलर्ट हमेशा ओपन रखें ताकि हर ट्रांजेक्शन का अपडेट मिलता रहे। ऑनलाइन शॉपिंग में लेनदेन की अधिकमत लिमिट को कम रखें। कोशिश करें कि अधिकतम लिमिट 50 हजार से अधिक नहीं हो। पैमेंट करने के बाद सबूत के तौर पर ट्रांजेक्शन की स्क्रीनशॉट जरूर रख लें। हर एक या दो सप्ताह के बाद अपने शॉपिंग अकाउंट का पासवर्ड जरूर बदलते रहें।

Leave a Reply

Your email address will not be published.