फरीदाबाद में सड़क के गड्ढे या गड्ढों की सड़क : शहर की ज्यादातर सड़कों पर जानलेवा गड्ढे

शहर में सड़क हादसों का सबसे बड़ा कारण सड़क के गड्ढे बन रहे हैं। नगर निगम अधिकारियों की लापरवाही के कारण शहर की ज्यादातर सड़कों पर बड़े बड़े जानलेवा गड्ढे बने हुए हैं।

Faridabad न्यूज़

Faridabad: शहर में सड़क हादसों का सबसे बड़ा कारण सड़क के गड्ढे बन रहे हैं। नगर निगम अधिकारियों की लापरवाही के कारण शहर की ज्यादातर सड़कों पर बड़े बड़े जानलेवा गड्ढे बने हुए हैं। मजबूत सड़क बनाने के नाम पर निगम अधिकारियों द्वारा प्रतिबंध के बावजूद शहर में पिछले कई सालों से आरएमसी सड़कों का निर्माण करवाया जा रहा है। आरएमसी पर तारकौल के मुकाबला दस गुणा ज्यादा लगात आती है, लेकिन निगम अधिकारियों की लापरवाही के कारण ज्यादातर आरएमसी सड़कों पर बनने के कुछ दिनों बाद ही दरारें आनी शुरू हो जाती हैं। जो कुछ दिन बीतते ही गड्ढों का रूप धारण कर लेती हैं। यदि यही स्थिति रही तो बरसात आने पर यह गड्ढे वाहन चालकों के लिए जानलेवा साबित हो सकते हैं।

बनते ही टूट गई सड़क

सेनिक कालोनी के सामने से गुजर रही सड़क का श्मशानघाट से मस्जिद चौक तक का निर्माण करीब दो साल पहले करवाया गया था। लाखों रुपये की लागत से बनाई गई इस आरएमसी रोड पर बनने के कुछ दिनों बाद ही दरारें आनी शुरू कर दी थी। इन दरारों ने थोड़े दिनों बाद ही गड्ढों का रूप धारण करना शुरू कर लिया था। अब इस सड़क पर कई जगह बड़े बड़े खतरनाक गड्ढे बन चुके हैं। इन गड्ढों में फंस कर आए दिन दोपहिया वाहन सवार दुर्घटनाओं का शिकार हो रहे हैं। आए दिन लोग इन गड्ढों की वजह से घायल होते रहते हैं। इस सड़क पर गड्ढों के कारण आए दिन होने वाली दुर्घटनाओं को ध्यान में रखते हुए आरटीआई कार्यकर्ता विष्णु गोयल ने करीब तीन साल पहले शिकायत भी की थी। लेकिन शिकायत पर कार्रवाई करना तो दूर निगम अधिकारियों ने इस सडक़ की मरम्मत तक करवाने की जरूरत महसूस नहीं की।

ये भी पढ़ें: Faridabad: 33 वीं बिग्नर्स रोलर स्केटिंग प्रतियोगिता का आयोजन

जगह जगह बने गड्ढे

नगर निगम के अधिकारियों की लापरवाही के कारण शहर की ज्यादातर सड़कों पर गड्ढे बने हुए हैं। सड़क निर्माण के दौरान अधिकारी ध्यान देने की बजाए ठेकेदार के भरोसे छोड़ देते हैं। ऐसे में आरएमसी सड़कों पर कई स्थानों पर बने गड्ढे काफी खतरनाक स्थिति में पहुंच चुके हैं। इन खतरनाक गड्ढों के कारण शहर में कभी कोई बड़ा हादसा हो सकता है। सेक्टर 23-24 के मैन रोड जगह जगह से क्रेक है और कई स्थानों पर गड्ढे बने हुए हैं। सेक्टर 22-23 के चौक पर स्पीड ब्रेकर टूटने से  खतरनाक गड्ढा बना हुआ था। बरसात के दौरान पानी भरा होने की वजह से गड्ढे वाहन चालकों को दिखाई नहीं देते। ऐसे में दोपहिया वाहन चालक इनमें फंस कर दुर्घटना का शिकार हो जाते है। इसी तरह जवाहर कालोनी गुरूद्वारा रोड, सारन स्कूल रोड और सारन थाने के सामने सड़क टूट जाने से वाहन चालकों को काफी परेशानी हो रही है। बाटा रेलवे फ्लाइओवर पर राष्ट्रीय राजमार्ग की तरफ बने खतरनाक गड्ढों की वजह से वाहन चालकों को रोज परेशानी होती है।

सड़कों की मरम्मत जरूरी

एसके शर्मा

सड़क सुरक्षा संगठन के प्रदेश उपाध्यक्ष एसके शर्मा का कहना है कि सड़कों पर बने गड्ढों और अन्य कई तरह की खामियों के कारण ही सडक़ दुर्घटनाएं होती है। नगर निगम को इस तरह की समस्याओं पर प्रमुखता के साथ ध्यान देते हुए तुरंत दूर करने का प्रयास करना चाहिए।

आए दिन होती हैं दुर्घटनाएं

गुरमीत सिंह

समाजसेवी एवं फीएवा संस्था के महासचिव गुरमीत सिंह देओल का कहना है कि सड़कों पर जगह जगह बने गड्ढों के कारण आए दिन सडक़ दुर्घटनाएं हो रही है। सेनिक कालोनी के सामने की सड़क के गड्डों के कारण लोगों की जान तक जा चुकी है। लेकिन निगम ध्यान नहीं दे रहा।

Leave a Reply

Your email address will not be published.