श्री राधा स्काई गार्डन के निवासियों ने लिया पौधारोपण अभियान में भाग

Shree Radha Sky Garden के निवासियों ने रविवार 26 जून, 2022 को ग्रीन नोएडा की थीम पर वृक्षारोपण अभियान का आयोजन किया। इस अभियान के तहत सोसायटी के हरित क्षेत्रों में विभिन्न प्रजातियों के लगभग 230 पौधे लगाए गए।

Greater Noida न्यूज़

Greater Noida: श्री राधा स्काई गार्डन (Shree Radha Sky Garden) के निवासियों ने रविवार 26 जून, 2022 को ग्रीन नोएडा की थीम पर वृक्षारोपण अभियान का आयोजन किया। इस अभियान के तहत सोसायटी के हरित क्षेत्रों में विभिन्न प्रजातियों के लगभग 230 पौधे लगाए गए। उनमें से कुछ अशोक, गुलमोहर, अमलतास, बेल, नीम और बोगनविलिया थे। महिलाओं और बच्चों सहित 70 से अधिक निवासियों ने इस अभियान में भाग लिया।

सोसाइटी के निवासी मुकेश झा ने बताया कि हमने सामूहिक रूप से निर्णय लिया है कि प्रत्येक निवासी प्रत्येक सप्ताहांत में पांच पौधे लगाएगा और उनकी देखभाल भी करेगा। इसके अलावा, NEFOWA शीघ्र ही एक भव्य वृक्षारोपण अभियान का आयोजन कर रहा है जिसमें सोसायटी के निवासियों ने भाग लेने का निर्णय लिया है। उन्होंने बताया कि इस अभियान में सभी लोगों ने सहयोग किया और हमने सोसायटी के लिए विभिन्न पौधे खरीदे। उन्होंने कहा कि यह तो सिर्फ शुरुआत है। हम अब से हर वीकेंड ग्रेटर नोएडा के आसपास के इलाकों में पेड़ लगाएंगे। हमारी सोसायटी की रखरखाव टीम पौधों की देखभाल करने में मदद करेगी।

ये भी पढ़ें: Greater Noida West : स्ट्रैटेजिक रॉयल कोर्ट 16 बी के निवासियों में बढ़ रही है असुरक्षा की भावना

निवासियों ने कहा कि इस वृक्षारोपण अभियान के पीछे का कारण हमारे पर्यावरण को ठंडा करना है क्योंकि तापमान बढ़ रहा है, इसके अलावा पेड़ प्रदूषण के दुष्प्रभाव को कम करने में भी मदद करेंगे।

निवासी प्रभाकर मिश्रा कहते हैं, आज के परिवेश पर नजर डालें तो यह वाहनों और इलेक्ट्रॉनिक्स से भरा पड़ा है। गांवों से हम ऊंची इमारतों में चले गए हैं। यह समय है कि हम अपने पर्यावरण को बचाने के लिए एक साथ आएं। इसलिए हमने यह वृक्षारोपण अभियान शुरू किया है, और हम ग्रेटर नोएडा वेस्ट और किसान चौक में और पेड़ लगाएंगे।

निवासी पीके सिन्हा कहते हैं, एक कहावत है कि एक पेड़ लगाना 108 हवन करने के बराबर है। हमारे आस-पास बहुत कम पेड़ थे, इसलिए हमने इसे हरा-भरा बनाने का फैसला किया।

एक अन्य निवासी हेमंत कहते हैं, आमतौर पर हम रविवार को सोते हैं, लेकिन यह सप्ताहांत शानदार था क्योंकि हमने खुद से किसी बड़े कार्य में भाग लिया। मनुष्य के रूप में हम प्रकृति से बहुत कुछ लेते हैं। अब समय आ गया है कि हम साथ आएं और वातावरण को हरा भरा बनाने में सहयोग करें।

Leave a Reply

Your email address will not be published.