नोएडा में अब भी जारी है कुत्तों का आतंक, फिर किया एक छोटे बच्चे पर हमला

नोएडा में कुत्तों का आतंक थमने का नाम नहीं ले रहा है। हाईराइज बिल्डिंग्स से लेकर सड़कों तक जहां तहां कुत्तों के आतंक से लोग सहमे हुए हैं।

Noida न्यूज़

Noida: नोएडा में कुत्तों का आतंक थमने का नाम नहीं ले रहा है। हाईराइज बिल्डिंग्स से लेकर सड़कों तक जहां तहां कुत्तों के आतंक से लोग सहमे हुए हैं। सोसायटी में पेट ओनर्स अपने पालतु कुत्तों को संभालने में इस कदर असमर्थ हैं कि वे आम लोगों पर आए दिन अटैक करते रहते हैं जिससे छोटे बच्चे और बुजुर्ग आए दिन इनकी चपेट में आते रहते हैं। ताजा माला सेक्टर 74 स्थित सुपरटैक कैप्टाउन सोसायटी की है जहां एक छह साल के मासूम बच्चे पर एक पालतु कुत्ते ने हमला कर दिया और उसे जैसे तैसे बचाया गया।

मिली जानकारी के अनुसार नोएडा सेक्टर 74 सुपरटेक कैप्टाउन सोसायटी में 23 जनवरी की शाम को एक महिला अपने दो बच्चों को लेकर टहल रही थी। महिला अपने एक बच्चे को स्टॉलर पर बैठा कर घुमा रही थी और महिला का दूसरा बच्चा जो महज छह साल का है गार्डन में खेल रहा था। तभी पास घूम रहे एक लेब्राडोर डॉग ने बच्चे पर झपट्टा मार दिया। कुत्ते के इस आकस्मिक हमले से बच्चा जमीन पर गिर गया। महिला ने चीख पुकार कर लोगों से मदद की गुहार की और समय रहते एक युवक ने जैसे तैसे बच्चे को बचाया।

Also read: नोएडा में फिर आया लिफ्ट में फंसने का मामला, सोसायटी के अध्यक्ष पंद्रह मिनट तक अपनी बेटी के साथ लिफ्ट में फंसे

सोसायटी के अध्यक्ष अरुण शर्मा ने इस मामले को लेकर कहा कि यह एक बड़ा हादसा हो सकता था। उन्होंने कहा कि नियमों के बावजूद लेब्राडोर डॉग को बिना मजल और लिश के टहलाया जा रहा था। कुत्ते मालिक को कुत्ते को चेन से बांधकर पार्क में लाना चाहिए। कुत्ते को बिना मजल और चेन के पार्क में टहलना पूरी तरह से गलत है।

बच्चे की मां तस्कीन भी इस हादसे से काफी सदमें है। उनका कहना है कि समय रहते एक युवक ने जैसे तैसे मेरे बच्चे को बचा लिया नहीं तो कोई बड़ा हादसा हो सकता था। कुत्ते मालिक की जिम्मेदारी बनती है कि वे अपने पालतु कुत्ते को बांधकर पार्क में टहलाने लाए। मेरे बच्चे पर हमले के दौरान मैं चिल्लाती रही लेकिन उस कुत्ते के मालिक ने ध्यान तक नहीं दिया। कहने पर पेट ओनर मुझसे ही बदतमीजी करने लगा।

बता दें कि सोसायटी में इस मामले ने तूल पकड़ लिया है। पेट ओनर की बदतमीजी के कारण बच्चे की मां ने मौके पर पुलिस को बुला लिया। पुलिस ने दोनों पक्षों को समझाने का प्रयास किया और कोई नतीजा न निकलते देख, बच्चे की मां ने पुलिस में तहरीर दे दी।

Leave a Reply

Your email address will not be published.