Health Tips: ये आयुर्वेदिक उपाय दिलाएंगे बढ़े हुए यूरिक एसिड से छुटकारा

आजकल के दौर में जोड़ों का दर्द और सूजन की समस्या एक आम बात है। कई बार यह परेशानी शरीर में बढ़े हुए यूरिक एसिड के कारण होती है। यूरिक एसिड का बढ़ जाना जोड़ों को प्रभावित करता है। इससे गठिया की समस्या भी होने लगती है।

न्यूज़ सेहत

Health Tips: आजकल के दौर में जोड़ों का दर्द और सूजन की समस्या एक आम बात है। कई बार यह परेशानी शरीर में बढ़े हुए यूरिक एसिड के कारण होती है। यूरिक एसिड का बढ़ जाना जोड़ों को प्रभावित करता है। इससे गठिया की समस्या भी होने लगती है। जब शरीर में यूरिक एसिड की अधिकता हो जाती है तो ये क्रिस्टल के रूप में जोड़ों में जमा हो जाता है जिससे जोड़ों में दर्द और सूजन की परेशानी होने लगती है। किडनी इसी यूरिक एसिड को फिल्टर का कार्य करती है। वैसे तो यूरिक एसिड की समस्या को खूब पानी पीकर, उचित डाइट और व्यायाम से कंट्रोल किया जा सकता है, लेकिन जोड़ों में दर्द और सूजन ज्यादा होने पर डॉक्टर की सलाह लेनी आवश्यश्क है। यूरिक एसिड को कंट्रोल करने के लिए आयुर्वेद में कई उपाय बताएं गए हैं। आइए सिटीस्पाइडी में जानते हैं उन आयुर्वेदिक उपायों के बारे में।

पुनर्नवा काढ़ा

यूरिक एसिड बढ़ने पर आप पुनर्नवा का काढ़े का सेवन करें। यह एक प्रकार की जड़ी बूटी है, जो जोड़ों की सूजन को कम करती है। यूरिक एसिड बढ़ने पर जोड़ों में सूजन आ जाती है, पुनर्नवा जड़ी बूटी का काढ़ा शरीर से विषाक्त पदार्थों को बाहर निकालने का कार्य करता है। इससे सूजन कम होती है और जोड़ों के दर्द में आराम मिलता है।

ये भी पढ़ें: यूरिक एसिड के मरीज हैं तो खानपान पर दें विशेष ध्यान, इन चीजों से करें परहेज

काली किशमिश

अगर शरीर में यूरिक एसिड बढ़ा हुआ है तो काली किशमिश का सेवन आपको फायदा पहुंचा सकता है। काली किशमिश को गठिया और हड्डियों के घनत्व के लिए अच्छा माना जाता है। इसके लिए दस पन्द्रह किशमिश रात में पानी में भिगो दें सुबह पानी को पी लें और किशमिश को चबाचबाकर खा लें।

गुग्गल

हड्डियों से जुड़ी समस्याओं को दूर करने के लिए गुग्गल का इस्तेमाल करें। गुग्गल कई तरह के होते हैं, जिन्हें मिलाकर आयुर्वेदिक दवाएं बनाई जाती हैं इससे जोड़ों का दर्द और सूजन कम हो जाती है और यूरिक एसिड भी कंट्रोल हो जाता है।

सोंठ और हल्दी

यूरिक एसिड बढ़ने पर सोंठ और हल्दी के पाउडर का सेवन बहुत फायदा पहुंचाता है। सोंठ यानी सूखी हुई अदरक और हल्दी दोनों जीचों के सेवन से जोड़ों के दर्द में आराम मिलता है। पिसी हुई सोंठ और हल्दी को पानी में मिलाकर पेस्ट बना लें और दर्द वाली जगह पर लगाएं आराम मिलेगा।

6 Indian dishes with mustard as the key ingredient

Leave a Reply

Your email address will not be published.