Delhi: स्वच्छता अभियाना की पोल खोल रहा है यह कूड़ाघर, निगम को नहीं सुध

जनकपुरी डी ब्लॉक से सटे नांगलराया व खजान बस्ती में रहने वाले लोग नगर निगम की लापरवाही का खामियाजा भुगतने को विवश हैं। अब इस मुद्दे को जनकपुरी डी ब्लॉक में रहने वाले लोगों ने निगम अधिकारियों के समक्ष जोर शोर से उठाने का फैसला लिया है।

न्यूज़

Delhi: जनकपुरी डी ब्लॉक से सटे नांगलराया व खजान बस्ती में रहने वाले लोग नगर निगम की लापरवाही का खामियाजा भुगतने को विवश हैं। अब इस मुद्दे को जनकपुरी डी ब्लॉक में रहने वाले लोगों ने निगम अधिकारियों के समक्ष जोर शोर से उठाने का फैसला लिया है। लोगों का कहना है कि पूरे देश में सरकारी एजेंसियां स्वच्छता अभियान के नाम पर करोड़ों रूपये पानी की तरह बहा रही हैं, लेकिन उनकी खुद की कार्यशैली ऐसी है, जिसमें लापरवाही ही लापरवाही नजर आती है।

कूड़ादान नहीं लैंडफिल कहिए

नांगलराया व खजान बस्ती के बीच स्थित कूड़ेदान के आसपास से निकलने वाली बदबू दूर दूर तक पहुंचती है। हवा चलने पर गंदी हवा सांस के माध्यम से फेफड़े में दाखिल हो रहा है। लोगों का कहना है कि इस कूड़ादान से कई कई दिनों तक कूड़ा नहीं उठाया जाता है। यहां कूड़े का ढेर हमेशा लगा ही रहता है। ऐसा लगता है मानों यह कूड़ादान नहीं लैंडफिल साइट बन चुका है। निगम की कूड़ा ढोने वाली गाड़ियां भी कई बार यहां कूड़ा फेंककर चलती बनती है।

Also read: Delhi: विकासपुरी में कई कई दिनों तक नहीं उठाया जाता कूड़े का ढेर

सब्जी मंडी जाना हुआ मुश्किल

इस कूड़ेदान के पास ही एक सब्जी मंडी है। यहां जनकपुरी, मायापुरी, हरिनगर से लोग सब्जियां खरीदने आते हैं, लेकिन कूड़े के ढेर के कारण सब्जी मंडी के लिए आना जाना अब काफी मुश्किल है। स्थानीय निवासी शीतल ने कहा क्या दिल्ली में इस तरह की व्यवस्था होनी चाहिए। आखिर निगम का वह कौन अधिकारी है, जिसके जिम्मे साफ सफाई के कार्य की निगरानी की जिम्मेदारी है। राजकुमार तंवर ने बताया कि इस कूड़ेदान के कूड़े कि बदबू हमारे घर के अंदर तक आती है और जब बारिश आतीं हैं तो बहुत ही मुश्किले बढ़ जाती हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published.