अंतर्राष्ट्रीय पुस्तक दिवस पर एक कविता पुस्तकों के नाम

World Book Day 2022: किताबें सिर्फ़ कोरे पन्नों पर लिखे कुछ शब्दों का ही नाम नहीं होता है, बल्कि ज़िंदगी के चाहे जिस भाव, जिस एहसास, जिस ख़ुशी या जिस रंगत का नाम लीजिए, किताबों में वह सब-कुछ मिलेगा, बल्कि कहना चाहिए कि ज़िंदगी में किताबों ज़रूर होनी चाहिए, क्योंकि किताबों में सही मायनों में […]

Continue Reading