Acid attack survivor girls are making a new identity by emerging on a psychological level from the shock of losing face, marks on the body

शरीर पर निशान, चेहरा खो जाने का सदमे से मनोवैज्ञानिक स्तर पर उभर कर नई पहचान बना रही है एसिड अटैक सर्वाइवर लडकियां

एसिड अटैक सर्वाइवर को समाज की मुख्यधारा से जोड़ने के साथ उन्हें स्वावलंबी बनाने के लिए छांव फाउंडेशन एनजीओ अहम भूमिका निभाई है, अब उसे नोएडा प्राधिकरण का साथ मिला है

Continue Reading