Ramdhari Singh 'Dinkar' - the fierce sun of Hindi literature

रामधारी सिंह ‘दिनकर’ – हिंदी साहित्य के प्रचंड सूर्य

हिंदी साहित्य में कविता तथा निबंध जैसी विधाओं में अमर कृतियां रचकर प्रसिद्धि पाने वाले रामधारी सिंह ‘दिनकर’ (Ramdhari Singh ‘Dinkar’) वास्तव में साहित्य के सूर्य थे। वीर रस से भरी उनकी कविताएं आज भी लोगों की भुजाएं वैसे ही फड़का देती हैं, जितना अपने सृजन के समय। उनकी कविताओं की इसी विशेषता ने स्वतंत्रता […]

Continue Reading

इब्न-ए-इंशा की कविता चल इंशा अपने गाँव में

शायद ही कोई ऐसा हो जो उर्दू के मशहूर शायर इब्न-ए-इंशा के नाम से न वाकिफ हो। किसी के लिए ये बड़े शायर थे, किसी के लिए पंसदीदा कवि, कुछ लोगों के लिए गजब के साहित्यकार तो कुछ के लिए हास्य लेखक।

Continue Reading

कौन से सच बताती है ये कविता

सोशल मीडिया के इस ज़माने में हमें सकारात्मकता का ज्ञान देने वाली बहुत सी बातें पढ़ने-सुनने को मिल जाती हैं, लेकिन सच ये है कि अपने दुख के साथ हर व्यक्ति कल भी अकेला था और आज भी अकेला है।

Continue Reading

कुंअर बेचैन की कविता ‘नीड़ के तिनके’

देश-विदेश के हज़ारों मंचों पर कुंवर बेचैन के गीतों और कविताओं को लोगों का प्यार मिला। सिटीस्पाइडी डॉट इन में हम आपके लिए लाए हैं, कुंवर बेचैन की कविता ‘नीड़ के तिनके’।

Continue Reading

हर स्त्री के मन की व्यथा कहती दामिनी यादव की कविता : माहवारी

आज के इस डिजिटल युग में जब महिलाएं हर क्षेत्र में बढ़-चढ़कर हिस्सा ले रही हैं, तब भारत के अनेक हिस्सों में माहवारी को लेकर कई प्रकार की कुप्रथाएं आज भी जिंदा हैं।

Continue Reading