जानिए गंगा सप्तमी से जुड़ी ज़रूरी बातें

बैशाख मास की शुक्ल पक्ष की सप्तमी को गंगा सप्तमी मनाई जाती है। ऐसी लोक  मान्यता है कि पवित्र नदी मां गंगा इसी दिन पृथ्वी पर अवतरित हुई थी।

इस बार गंगा सप्तमी का 8 मई रविवार के दिन मनाई जा रही है। बताया जा रहा है  कि इस दिन रविपुष्य योग बनने से यह दिन विशेष महत्व लिए है।

ज्योतिषीय मतानुसार, इस बार गंगा सप्तमी 7 मई को दोपहर 2 बजकर, 57 मिनट से  प्रारंभ होकर अगले दिन 8 मई को शाम 5 बजे तक रहेगी। उदिया तिथि के कारण  गंगा सप्तमी 8 मई को ही मनाई जाएगी।

गंगा सप्तमी का अबूझ मुहूर्त 8 मई को सुबह 11 बजकर, 5 मिनट से लेकर दोपहर 1 बजकर, 41 मिनट तक रहेगा।

इस दिन श्रद्धालु गंगा नदी में डुबकी लगाते हैं। इसके बाद कलश में रोली  चावल, गंगाजल, शहद, चीनी, इत्र और गाय का दूध जैसी सामग्री लेकर मां गंगा  की पूजा-अर्चना करते हैं।

श्रद्धालुओं द्वारा इस दिन गंगा स्नान के बाद यथास्थिति दान को भी विशेष महत्व दिया जाता है।